Exam Login Happenings Online Fees Placement | Toll-Free : 1800120102102

A state level essay competition was organized

श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय में स्वामी विवेकानंद जी की जयंती पर राज्य स्तरीय निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।

जब कोई आदर्शों से भरा जीवन जीता है तो वह समाज के लिए प्रेरणा का पुंज बन जाता है इसी प्रेरणा को युवाओं में जीवित रखने के लिए श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय के द्वारा स्वामी विवेकानंद जी की जयंती के अवसर पर स्वामी विवेकानंद जी के विचारों पर आधारित राज्य स्तरीय निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।

विश्वविद्यालय में आयोजित इस निबंध प्रतियोगिता मे 200 छात्रों ने प्रतिभाग किया। कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए प्रतिभागियों से सहमति पत्र भी भरवाए गए और उपस्थित सभी प्रतिभागियों ने मास्क और सोशल डिस्टेंस के नियमों का पूरा पालन किया गया।

प्रतिभागियों को शुभकामनाएं देते हुए विश्वविद्यालय के कुलाधिपति श्री देवेंद्र दास जी महाराज ने कहा कि आज के समाज में मानसिक अवसाद की समस्या बढ़ती जा रही है| छात्रों को अपने चिंतन को सुदृढ़ रखने के लिए विवेकानंद जी के विचारों से प्रेरणा लेनी चाहिए और अपने लक्ष्य पर अडिग रहने का हर संभव प्रयास करना चाहिए।
अपने लक्ष्य पर अडिग रहे युवा: कुलाधिपति

इस अवसर पर विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. यू एस रावत ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि स्वामी विवेकानंद मानवता की मिसाल रहे हैं| उन्होंने विश्व स्तर तक भारत का परचम लहराया है, जिस प्रकार वे सादा जीवन उच्च विचार की धारणा रखते थे उसी प्रकार आज के युवाओं को आगे बढ़ने के लिए उनके विचारों को अपनाना होगा| उत्तराखंड का विवेकानंद जी पर गहरा प्रभाव था यही कारण है कि उन्होंने यहां पर विभिन्न स्थानों की यात्रा करते हुए राजयोग को अलग पहचान दी थी| उत्तराखंड में की गई उनकी यात्रा और साधना से प्रदेश की संस्कृति को एक अलग पहचान मिल सकती है, उसके लिए युवाओं को आगे आना होगा।
विवेकानंद के आदर्शों से प्रेरणा ले युवा: कुलपति

इस अवसर पर विश्वविद्यालय की समन्वयक डॉ. मालविका कांडपाल ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि यह राज्य स्तरीय निबंध प्रतियोगिता छात्रों के मूल्यांकन के लिए आयोजित की जा रही है जिसमें विवेकानंद जी के विचारों से प्रेरणा लेते हुए छात्र उत्तराखंड की बेहतरी के लिए अपने विचारों को व्यक्त कर सकते हैं।

इस पूरे आयोजन का संयोजन स्टूडेंट वेलफेयर प्रो. डॉ. कंचन जोशी द्वारा किया गया।